web counter
अभिलेखीकरण की योजनायें
   कार्य कलाप(२००५-०६)
8.
प्रशिक्षण कार्य
उ०प्र० अभिलेख नीति सन्‌ १९९० में शासन के विभागों /कार्यालयों के कर्मियों को अभिलेखों के रखरखाव विषयक प्रशिक्षण की व्यवस्था का दायित्व उ०प्र० राजकीय अभिलेखागार का है। इस अनुक्रम में मा० उच्च न्यायालय, लखनऊ के दो कार्मिको को अभिलेख प्रबन्धन विषयक प्रशिक्षण दिया गया है। इसके अतिरिक्त सचिवालय प्रशिक्षण संस्थान तथा एन०आर०एल०सी०(भारतसरकार), लखनऊ के प्रशिक्षणार्थियों को अभिलेखागार की कार्य प्रणाली का अवलोकन भी कराया गया।
9
 
पुस्तकालय
अभिलेखागार से सम्बद्घ एक उच्चस्तरीय संदर्भ पुस्तकालय भी है। इस पुस्तकालय में भारतीय इतिहास एवं संस्कृति से सम्बन्धित लगभग १४००० पुस्तकें, दुर्लभ जर्नल एवं रिपोटर्स(प्रशासकीय रिपोर्ट, सेटेलमेन्ट रिपोर्ट, सेन्सेज़ रिपोर्ट आदि) हैं जो कि शोधार्थियों को उनके शोध कार्य हेतु प्रमाणिक सूचनायेँ एवं आकडे उपलब्ध कराने में अत्यन्त सहायक हैं।
10
 
प्रकाशन
उ०प्र० राजकीय अभिलेखागार द्वारा जनसामान्य विशेषकर इतिहास विशेषज्ञों एवं शोधार्थियों हेतु संरक्षित अभिलेखों पर आधारित प्रकाशनकार्य नियमित रूप से कराया जाता है। अब तक कुल ३८ प्रकाशन कार्य किये जा चुके हैं। जिनमें ''म्यूटिनी टेलीग्राम'', ''स्मृति के पृष्ठ'', ''गाँधी स्पीकस आन नॉन कोआपरेशन इन यू०पी०'' एवं '' मेरे पत्र मेरी कथा'' प्रमुख हैं। भारत सरकार की केन्द्रीय वित्तीय सहायता योजना के अन्तर्गत राजस्व, आबकारी, नियुक्ति, वित्त, गृह, सामान्य प्रशासन आदि विभागों की कुल ८ गाइड्‌स की पाण्डुलिपियाँ प्रकाशनार्थ तैयार की जा चुकी हैं।

1 2 3
Designed & Developed by MARG Software Solutions
Best viewed at 1024x800 resolution | internet explorer 8.0-latest versions | macromedia flash player 8.0
आगंतुक संख्या
web counter

कृपया विवरण भरें

नाम*  
मोबाइल नं.*  
पता*  
संस्था
पदनाम
ई-मेल
शहर*  
 
Content

कृपया विवरण भरें

नाम*  
ई-मेल*  
पता*  
फ़ोन*  
शहर*  
देश*  
व्यवसाय
सन्देश