web counter
विभाग

उपादेयता

राज्य ललित कला अकादमी, उ०प्र० द्वारा प्रदान किये गये प्रोत्साहन/सहयोग से प्रदेश की अनेक प्रतिभाओं ने राष्ट्रीय/अन्तर्राष्ट्रीय कला परिदृश्य में अपनी सशक्त उपस्थिति दर्ज करायी है। आज देश के सभी कोनों में दृश्य कलाओं से सम्बन्धित कलाकार, शिक्षक, स्वतंत्र सृजन एवं लेखन कार्य में संलग्न हैं। अध्येत्ताओं के लिये अकादमी द्वारा प्रकाशित अनेक पुस्तकें मोनोग्राफ रिप्रोडक्शन उपलब्ध है। दृश्य कलाओं से सम्बन्धित महत्वपूर्ण पुस्तकों से युक्त
पुस्तकालय है, जो अध्येताओं के संदर्भ जिज्ञासा का केन्द्र है। अकादमी में लगभग २००० कलाकृतियां जिसमें रेखांकन, चित्र, मूर्ति, ग्राफिक विधा की कृतियां संग्रहीत हैं। प्रदेश के विख्यात कलाकारों की कृतियों का समृद्घ संग्रह, है जिसमें प्रमुखता से श्री एस०आर० खास्तगीर, श्री एल०एम० सेन, श्री असित कुमार हाल्दार, श्री एच०एल० मेढ़, श्री विश्वनाथ मुखर्जी, श्री आर०एस० विष्ट, श्री मदन लाल नागर, जतिन दास, अंजली इला मेनन, जामिनी राय, एम०एफ० हुसैन आदि की कृतियां संग्रहीत हैं, जो अध्येताओं को कला की समृद्घ परम्पराओं/शैलियों से परिचय कराती हैं, इन्हें आधुनिक कला वीथिका के माध्यम से नियमित रूप से एक-एक माह के लिये प्रदर्शित किया जाता है।
Designed & Developed by MARG Software Solutions
Best viewed at 1024x800 resolution | internet explorer 8.0-latest versions | macromedia flash player 8.0
आगंतुक संख्या
web counter

कृपया विवरण भरें

नाम*  
मोबाइल नं.*  
पता*  
संस्था
पदनाम
ई-मेल
शहर*  
 
Content

कृपया विवरण भरें

नाम*  
ई-मेल*  
पता*  
फ़ोन*  
शहर*  
देश*  
व्यवसाय
सन्देश